Indoor Air Pollution (Pic: austinair)
वायु प्रदूषण आज के समय की एक बड़ी समस्या बन गई है। खासकर मेट्रो सिटीज में तो यह खतरनाक स्तर तक पहुंच गई है। आप चाहे जितना बढ़िया घर ले लें, किंतु इनडोर एयर पॉल्यूशन आपके घर की चमक को फीका कर ही देता है।

लेकिन ज्यादा चिंता की बात यह है कि आपके घर की चमक तो सफेदी से फिर चमकने लगेगी, लेकिन पलूशन से आपकी सेहत खतरे में (Indoor Pollution is dangerous) पड़ जाती है। दिल्ली जैसे क्षेत्रों में तो स्मॉग (Smog) नामक काली चादर अक्सर फ़ैल जाती है और कहते हैं कि इस तरह के वायु-प्रदुषण से लोगों की आयु औसतन 6 साल तक घट जाती है।

वहीं इसके समाधान की बात करें तो बाहर के प्रदूषण का इलाज तो गवर्नमेंट और दूसरी प्रशासनिक संस्थाएं करेंगी, लेकिन मुश्किल तो तब होती है जब हमारे घर के अंदर पलूशन खतरनाक स्तर तक बढ़ जाता है। इनडोर एयर पॉल्यूशन (Indoor Air Pollution) हमारे लिए बेहद हानिकारक है। घर के अंदर फैली धूल, कचरा, मिट्टी बारीक़ होने के कारण हमें खुली आंखों से नहीं दिखाई देते हैं, लेकिन ये हमारे हेल्थ को सीधे प्रभावित करते हैं।

हालाँकि इनसे बचने के लिए  हमें कुछ बेसिक सावधानियों पर ध्यान देना चाहिए।

घर के अंदर मोमबत्ती, कपूर, दिया, बत्ती इत्यादि बिल्कुल न जलाएं, क्योंकि इनसे बड़ी मात्रा में कार्बन निकलता है और इनडोर पोलूशन का कारण बनता है। अगर घर में पूजा-पाठ करते भी हैं तो उससे तुरंत ही बाहर निकाल कर रख दें। जाहिर तौर पर इससे कार्बन की मात्रा कम से कम रहेगी।

घर में ऐसे समान ना रखें जो बेकार हो और जिन पर धूल जमने की संभावना सर्वाधिक हो। जैसे प्लास्टिक के पौधे या सजावटी झालर (Less Home Decoration to avoid Pollution)इत्यादि। इन चीजों पर बड़ी मात्रा में धूल बैठी होती है और इससे हमें साइनस और एलर्जी की प्रॉब्लम स्वभाविक रूप से हो सकती है। इसीलिए घर में वही सजावटी सामान रखें जिसे आसानी से साफ किया जा सके और जिन पर धूल कम से कम बैठे।

इनडोर एयर पोलूशन से बचने के लिए हमें समय-समय पर घर की सफाई करते रहनी चाहिए और सोफा, कारपेट, तकिया, बेडशीट इत्यादि को निश्चित समय पर धोते रहना चाहिए, ताकि पलूशन से हम बच सकें।

इसके अतिरिक्त घर का वेंटीलेशन (Ventilation) प्रदूषण से दूर रखने में अहम भूमिका निभाता है। अगर आपके घर में साफ हवा आती रहती है तो लिविंग एरिया बेहतर स्थिति में रहता है।
House-Plants (Pic: today)
इसके अतिरिक्त पौधे (Air Purifying Plants) ऐसे विकल्प हैं जो ना केवल हमें ग्रीनरी प्रदान करते हैं बल्कि प्रदूषण से हमें बड़े लेवल पर दूर रखते हैं। कई रिपोर्ट में यह बात साबित हो गई है कि पौधे के पत्ते और जड़ इत्यादि प्रदूषण के कारकों को अपने अंदर सोख लेते हैं और घर की हवा को शुद्ध करते हैं।

अगर आप अपने घर में मनी प्लांट, एलोवेरा, बॉस्टन फर्न, सेंसवरिया प्लांट, तुलसी इत्यादि लगाते हैं तो आपके घर की हवा शुद्ध होती है और इससे आप खुद को पलूशन से महफूज रख सकते हैं।

इनडोर एयर पॉल्यूशन के बारे में आपके क्या विचार हैं, कमेंट बॉक्स में बताएं।

मिथिलेश कुमार सिंह


Web Title: Indoor Air Pollution and Solution, Hindi Article