घर लेने जा रहे हैं तो ‘फायर सेफ्टी’ को न करें अनदेखा!

Fire In flat (Pic: abc11)
आप कहेंगे यह भी कोई कहने की बात है... तो हम कहेंगे हां! यह कहने की ही बात है। अगर यह कहने की बात नहीं होती तो आज के समय में भी दिल्ली या मुंबई जैसे बड़े मेट्रो सिटीज में 90 फीसद से अधिक घर बगैर फायर सेफ्टी इंतजाम (Fire Safety System) के खरीदे और बेचे जाते हैं।

छोटे बिल्डर्स को तो छोड़ ही दीजिए बड़े बिल्डर्स भी फायर सेफ्टी के ठीक इंतजाम कर पाने में विफल होते हैं।

इसका परिणाम यह होता है कि जब कभी आग लगने की दुर्घटना होती है तो उसमें जानमाल की भारी हानि होती है। अगर आपको यकीन नहीं है तो आप आग लगने से संबंधित दुर्घटनाओं (Fire Case In Flats) के बारे में गूगल पर सर्च कीजिए और इसके तमाम प्रमाण आपको मिल जाएंगे। गूगल पर भी सिर्फ उन्हीं घटनाओं का ज़िक्र मिलेगा, जो आकार में काफी बड़ी होंगी और जिनको मीडिया द्वारा कवरेज मिली होगी।
जबकि छिटपुट ऐसी तमाम दुर्घटनाएं होती हैं जिन पर लोगों का ध्यान ही नहीं जाता है।

अग्निशमन आज के घर का सबसे महत्वपूर्ण पहलू है। इस बारे में बिल्डर्स एंड डेवलपर्स के लिए कानून बड़े स्पष्ट हैं। म्युनिसिपलिटीज या दूसरी लोकल अथॉरिटीज द्वारा भी इस बारे में डेवलपर्स के लिए नियम बड़े स्पष्ट हैं।

एक खरीददार (Home Buyers) के रूप में आप इस बारे में अवश्य ही आश्वस्त हों कि आप जो फ़्लैट ले रहे हैं, उसमें आग बुझाने और बचाव से सम्बंधित जरुरी सुविधा मौजूद है।

कॉमन एरियाज, पार्किंग या फिर सीढ़ियों पर आग लगने की स्थिति में निकास की पर्याप्त व्यवस्था की गई है या नहीं, यह आपको अवश्य ही देखना चाहिए। वहीं आग लगने की स्थिति में आग बुझाने के पर्याप्त इंतजाम हैं या नहीं, इसकी भी तस्दीक कर लेनी चाहिए!

अगर इन सब प्रश्नों के उत्तर हां में मिलते हैं तो एक सुरक्षित मकान लेने की सलाह आप को दी जा सकती है।
Fire Exit Sign (Pic: flipkart)
अगर आप ऐसे घर में रह रहे हैं जहां पहले से अग्निशमन की कुछ खास व्यवस्था नहीं है तो बावजूद इसके आपको फायर एक्सटिंग्विशर (Fire Extinguisher) और फायर सेफ्टी अलार्म (Fire Safety Alarms) जैसी बेसिक सुविधाओं की व्यवस्था करने की कोशिश करनी चाहिए।

कई जगहों पर यह देखा गया है कि व्यवस्था करने में फाइनेंस कोई बहुत बड़ी बाधा नहीं होती है। लेकिन लोग आलस के कारण इस तरह की व्यवस्था करने में चूक जाते हैं और नतीजा यह होता है कि दुर्घटना होने की स्थिति में वह अपना भारी नुकसान कर बैठते हैं।

इसके अतिरिक्त कुछ बातें और भी आप को ध्यान में रखनी चाहिए जैसे अत्यधिक ज्वलनशील पदार्थों के संग्रहण से आपको बचना चाहिए। निकास के रास्तों (Fire Exit) को हमेशा फ्री रखना चाहिए और आपात स्थिति में उस में कोई बाधा ना आए, इसके प्रति रख-रखाव को सुनिश्चित करना चाहिए। आग लगने की स्थिति में जनरेटर इत्यादि को पावर लाइनों से जोड़ने से बचना चाहिए, क्योंकि रिवर्स इलेक्ट्रिक फ्लो (Reverse Electric Flow) के कारण दुर्घटना का स्तर बहुत बड़ा हो सकता है। इतना ही नहीं फायर अलार्म और दूसरे सुरक्षा के उपकरणों को छेड़छाड़ से बचाना चाहिए।

जाहिर तौर पर यह बेहद संवेदनशील मसला है और इसकी संवेदनशीलता का महत्व व्यक्ति को तभी समझ आ सकता है जब वह खुद जागरूक हो।

आपके इस संबंध में क्या विचार हैं, कमेंट बॉक्स में अपनी प्रतिक्रिया दर्ज करें।

मिथिलेश कुमार सिंह


Web Title: Fire Safety Information Guide Article In Hindi