Commercial Residential (Pic: randbplumbing)

कहा जाता है कि कमर्शियल प्रॉपर्टी (Commercial Property) में रिटर्न ऑफ इन्वेस्टमेंट (Return Of Investment) रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी की तुलना में काफी ज्यादा होता है। जाहिर तौर पर यह इन्वेस्टर्स (Investors) का सबसे पसंदीदा शगल होता है। पर मुश्किल यह होती है कि कमर्शियल प्रॉपर्टी में इन्वेस्टमेंट कहीं ज्यादा होते हुए भी रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी (Residential Property) की तरह एकरूपता नहीं होती है।

इसमें बात लोकेशन और पसंद - नापसंद से कहीं ज्यादा जुड़ी होती है। रेजिडेंशियल प्लॉट के रेट जहां मार्केट की तुलना में कमोबेश समान होते हैं, वही कमर्शियल प्रॉपर्टी में यह काफी अलग होता है। ऐसे में अगर आप कमर्शियल प्रॉपर्टी क्रैक करने की जानकारी ढंग से नहीं रखते हैं या फिर आपको इसमें महारत हासिल नहीं है तो आपको फायदे की बजाय नुकसान उठाना पड़ सकता है। 

इस लेख में हम आपको बताएंगे कि इसके क्या नियम हो सकते हैं।

एक इन्वेस्टर कमर्शियल प्रॉपर्टी का तकरीबन 7 से 8% रेंट रिटर्न का टारगेट रखता है। वहीं अगर बात हम रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी करते हैं, जो दो से चार परसेंट के बीच का है, रेंट रिटर्न देते हैं। जाहिर तौर पर कमर्शियल प्रॉपर्टी में लाभ कमाने की गुंजाइश कहीं ज्यादा होती है।

Property In Rush Aria (Pic: ft.com)

अगर आप कमर्शियल प्रॉपर्टी बेहतर ढंग से क्रैक करना चाहते हैं तो आपको ध्यान में रखना चाहिए कि कमर्शियल स्पेस 10000 स्क्वायर फीट या उससे अधिक (Comparatively Large Property) का हो तो ज्यादा रिटर्न आने की उम्मीद होती है। बिल्डिंग के कंडीशन की बात करें तो यह छोटे मार्केट के लिए वेल इस्टैबलिश्ड होनी चाहिए और वहां पर फुटफाल (Footfall around Commercial Property) ठीक मात्रा में होनी चाहिए।

जहां भी आप कमर्शियल प्रॉपर्टी में इन्वेस्टमेंट करते हैं, वहां पब्लिक ट्रांसपोर्ट (Public Transport) और सोशल इन्फ्राट्रक्चर बेहतर हालत में होनी चाहिए। ध्यान रखिए 8 से 9 पर्सेंट रिटर्न हासिल करना किसी भी इन्वेस्टर का लक्ष्य होता है। किसी भी खाली स्पेस होने की स्थिति में आपको हाई रिटर्न लेने से परहेज करना चाहिए, क्योंकि इसे एक स्तर पर रिस्की माना जाता है।

मिथिलेश कुमार सिंह


Web Title: Buying A Commercial Property, Tips, Tricks, Guide in Hindi