दिल्ली के तमाम क्षेत्रों में घर रेंट पर लेने वालों की कुछ कमी नहीं है. लोग अपनी ज़रूरतों और सुविधा के लिहाज से फ्लैट / अपार्टमेंट रेंट पर लेते हैं और उसी अनुसार उसका इस्तेमाल भी करते हैं. पर मुश्किल तब आती है, जब रेंट लेने से पहले वह तमाम आवश्यक बातों पर ध्यान नहीं देते, जो बाद में भारी मुश्किल बन सकती हैं.
तो आइये, कुछ मुख्य बातों पर ध्यान दें, जिन्हें हर किसी को किरायेदार बनने से पहले ध्यान में रखना चाहिए:

रेंटल एग्रीमेंट (Rental Agreement)
यह एक बेहद आवश्यक और ज़रूरी डॉक्यूमेंट है. आप जब भी किराये पर कोई फ्लैट/ मकान लेते हैं तो यह बेहद आवश्यक हो जाता है कि आप मकान मालिक से अपने रिश्ते और टर्म्स को लेकर बेहद क्लियर हों. साथ ही साथ मकान मालिक भी अपने अधिकार और आपके अधिकारों को लेकर किसी कन्फ्यूजन में न हो. जाहिर तौर पर इसके लिए रेंटल एग्रीमेंट एक फूलप्रूफ डॉक्यूमेंट कहा जा सकता है. इसमें सामान्यतः मासिक किराये की रकम का विवरण, सिक्योरिटी अमाउंट का विवरण, एग्रीमेंट की अवधि सहित कुछेक दूसरी चीजों का विवरण होता है.
सामान्यतः रेंट एग्रीमेंट दो प्रकार के होते हैं, जिसमें पहला नोटराइज्ड (300 से 500 कीमत में बन जाता है) और दूसरा रजिस्टर्ड रेंट एग्रीमेंट (आपके किराए की रकम के आधे से कुछ अधिक होता है. जैसे अगर आपका मासिक किराया 8000 है तो रजिस्टर्ड रेंट एग्रीमेंट का खर्च तकरीबन 5000 आ सकता है. हालाँकि, यह क्षेत्र के हिसाब से भिन्न हो सकता है) होता है.
Things to Remember Before Renting, Hindi Article (Pic: JustLanded)

सीलन / वाल्स (Damping / Wall Condition)
जब आप कोई किराये का कमरा लेते हैं तो सामान्यतः मकान मालिक आपके देखने से पहले उसकी पुताई और सफाई करा चुके होते हैं. आपके देखने से पहले पानी की सप्लाई बंद होती है, इसलिए सीलन इत्यादि भी आसानी से नहीं दिखती. हालाँकि, कई बार यह नज़र आ जाती है, किन्तु आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि अगर किराये का एग्रीमेंट फाइनल होने के बाद आपको सीलन नज़र आ गयी तो इसकी परेशानी कई महीनों या फिर सालों तक बनी रह सकती है, जिससे न केवल आपके फ्लैट / मकान में दुर्गन्ध आएगी, बल्कि बीमारी फैलने का खतरा भी उतना ही अधिक होगा.
ऐसे ही वाल्स में क्रैक, पेंट इत्यादि को भी अनदेखा न करें अन्यथा छोटी चीजों की अनदेखी आपको साल भर दुःखी कर सकती है.

पावर सप्लाई (Electricity / Power Supply)
पावर की सप्लाई, सुरक्षा उपकरण (एमसीबी, फायर सेफ्टी इक्विपमेंट्स इत्यादि) इत्यादि देख लेना आपके लिए महफ़ूज रहेगा. बिजली कट की सिचुएशन सम्बंधित एरिया में कैसी है, यह आपको आस पास के घरों / दुकानों से बात करने पर मालूम हो सकती है. ऐसे में इमरजेंसी के लिए आप क्या सहूलियतें लेकर आ सकते हैं, यह अवश्य ही ध्यान रखने योग्य बात है.

बाथरूम एवं किचेन स्पेस (Bathroom & Kitchen Space)
रहने के पर्पज से लिए गए फ्लैट्स में अक्सर लोग बाथरूम एवं किचेन स्पेस को अनदेखा कर देते हैं, जबकि यह वो स्थान हैं जो सर्वाधिक महत्वपूर्ण हैं. अगर आपका बाथरूम कम्फर्टेबल नहीं है तो यह समझ लें कि आपकी सुबह शाम अच्छी नहीं जाने वाली. इसी तरह अगर अपनी जीवनसंगिनी से रोज लड़ना-झगड़ना नहीं चाहते हैं तो किचेन स्पेस और वहां स्टोरेज की सुविधाओं पर नज़र दौड़ाना न भूलें.

सुरक्षा (Security is Most Important)
खासकर फेमिली मेंबर्स के साथ रेंट के लिए फ्लैट ढूंढने वाले लोगों को इस बात का बखूबी ध्यान रखना चाहिए कि आसपास माहौल कैसा है?
क्या जिस बिल्डिंग/ फ्लैट में आप रेंट ले रहे हैं, वहां CCTV की फैसिलिटी मौजूद है?
खासकर सोसायटी फ्लैट्स में विवादों को निपटाने के लिए कोई कॉमन व्यवस्था बनायी गयी है.
सुरक्षा पर आपकी नज़र यहीं नहीं रूकनी चाहिए, बल्कि सीढ़ियों अथवा लिफ्ट को अपने छोटे बच्चों के लिहाज से देखिये कि वह आने जाने के लिए आपके नन्हें मुन्नों के लिए सुरक्षित है या नहीं?
अपने बच्चों के लिए आपको बॉलकनी और अगर आप टॉप फ्लोर रेंट कर रहें हैं तो टेरेस पर सुरक्षा की दृष्टि से एक नज़र अवश्य ही दौड़ाना चाहिए.

अगर आपको रेंट से जुड़ी कोई अन्य जानकारी चाहिए तो हमें p@zmu.in पर मेल करें अथवा 9990089080 पर व्हाट्सप्प करें. सम्बंधित विशेषज्ञों से आपकी क्वेरी का उत्तर लेकर आपको भेजने के लिए हम कृत-संकल्प हैं.

ज़ेडएमयू प्रॉपर्टी पोर्टल का यू ट्यूब चैनल आप यहाँ सब्सक्राइब कर सकते हैं: Property Videos
Original Image by one of our User, Voluntarily. Thanks from ZMU Property Portal 
Web Title and Keywords: Things to Remember Before Renting, Hindi Article, Delhi, Hindi Article About Renting Flat or Apartment, Important Things, Rent, Apartment Renting Tips, Flooring, Infestation, Storage Spaces, Power Point in Rented House, Expert View about Renting in Hindi